Tuesday, 15 January 2013

ज्ञान मुद्रा


ज्ञान मुद्रा

ज्ञान मुद्राः तर्जनी अर्थात प्रथम उँगली को अँगूठे के
नुकीले भाग से स्पर्श करायें। शेष तीनों उँगलियाँ
सीधी रहें।
लाभः मानसिक रोग जैसे कि अनिद्रा अथवा अति
निद्रा, कमजोर यादशक्ति, क्रोधी स्वभाव आदि हो तो
यह मुद्रा अत्यंत लाभदायक सिद्ध होगी। यह मुद्रा
करने से पूजा पाठ, ध्यान-भजन में मन लगता है।

इस मुद्रा का प्रतिदिन 30 मिनठ तक अभ्यास करना चाहिए।                                                                







           

0 comments:

Post a comment