Thursday, 21 February 2013

परीक्षा में सफलता कैसे पायें ?



परीक्षा में सफलता कैसे पायें ?

जैसे-जैसे परीक्षाएँ नज़दीक आने लगती हैं, वैसे-वैसे विद्यार्थी चिंतित व तनावग्रस्त होते जाते हैं, लेकिन विद्यार्थियों को कभी भी चिंतित नहीं होना चाहिए। अपनी मेहनत व भगवत्कृपा पर पूर्ण विश्वास रखकर प्रसन्नचित्त से परीक्षा की तैयारी करनी चाहिए। सफलता अवश्य मिलेगी, ऐसा दृढ़ विश्वास रखना चाहिए।

1.                            विद्यार्थी-जीवन में विद्यार्थियों को अपने अध्ययन के साथ-साथ नियमित जप-ध्यान का अभ्यास करना चाहिए। परीक्षा के दिनों में तो दृढ़ आत्मविश्वास के साथ सतर्कता से जप-ध्यान करना चाहिए।

2.                            परीक्षा के दिनों में प्रसन्नचित्त होकर पढ़ें, न कि चिंतित रहकर।

3.                            रोज सुबह सूर्योदय के समय खाली पेट तुलसी के 5-7 पत्ते चबाकर एक गिलास पानी पीने से यादशक्ति बढ़ती है।

4.                            सूर्यदेव को मंत्रसहित अर्घ्य देने से यादशक्ति बढ़ती है।

5.                            परीक्षा में प्रश्वपत्र (पेपर) हल करने से पूर्व विद्यार्थी को अपने इष्टदेव, भगवान या गुरूदेव का स्मरण अवश्य कर लेना चाहिए।

6.                            सर्वप्रथम पूरे प्रश्नपत्र को एकाग्रचित्त होकर पढ़ना चाहिए।

7.                            फिर सबसे पहले सरल प्रश्नों का उत्तर लिखना चाहिए।

8.                            प्रश्नों के उत्तर सुंदर व स्पष्ट अक्षरों में लिखने चाहिए।

9.                            यदि किसी प्रश्न का उत्तर न आये तो घबराए बिना शांतचित्त होकर प्रभु से गुरूदेव से प्रार्थना करें व अंदर दृढ विश्वास रखें कि मुझे इस प्रश्न का उत्तर भी आ जाएगा। अंदर से निर्भय रहें एवं भगवदस्मरण करके एकाध मिनट शांत हो जाएं। फिर लिखना शुरू करें। धीरे-धीरे उन प्रश्नों के उत्तर भी आ जाएंगे।

10.                        देर रात तक न पढ़ें। सुबह जल्दी उठकर, स्नान करके ध्यान करने के पश्चात पढ़ने से जल्दी याद होगा।

11.                        सारस्वत्य मंत्र का नियमित जप करने से यादशक्ति में चमत्कारिक लाभ होता है।

12.                        भ्रामरी प्राणायाम तथा त्राटक करने से भी एकाग्रता और यादशक्ति बढ़ती है। भ्रामरी प्राणायाम एवं सारस्वत्य मंत्र के लिए विद्यार्थीयों को आश्रम के द्वारा आयोजित विद्यार्थी तेजस्वी तालीम शिविर में शामिल होना चाहिए।




0 comments:

Post a comment