Saturday, 13 July 2013

पेट के कीडों का घरेलू उपचार


पेट के कीडों का घरेलू उपचार



पेट के कीडे सामान्यत: कब्ज करने वाले भोजन मांस और खट्टे मीठे पदार्थ अधिक खाने से पैदा होते है,इनके कारण शरीर में बुखार पेट दर्द जी मिचलाना चक्कर आना दस्त लगना गुदा में कांटे से चुभना आदि लक्षण होते हैं। पेट के अन्दर कीडे होने पर कब्ज से बचना चाहिये ,पुराने चावलों का भात परवल करेला गूलर बकरी का दूध कांजी नीबू का रस अखरोट आदि हल्के पदार्थ खाने से पेट में कीडे नही होते है,यदि कीडे पेट में हो जावें तो यह इलाज काम में लेने चाहिये।

    * दो टमाटरों में नमक और काली मिर्च लगा कर रोजाना सुबह पन्द्रह दिन तक खायें पेट के कीडे मर कर बाहर निकल जायेंगे,इसे तीन साल से कम उम्र के बच्चों को न दें। बडे बच्चे को रात को दूध जरूर पिलायें।

    * पेट की कीडों को खत्म करने के लिये हल्दी का काढा बनाकर पिलाना चाहिये।

    * दो तीन रत्ती हींग को अजवायन और ग्वारपाठा के गूदे के साथ देने से पेट की कीडे खत्म हो जाते है।

    * कमीला और बायबिडंग दोनो को बराबर बराबर लेकर पीस लें, बच्चों को एक ग्राम और बडों को तीन ग्राम सोने से पूर्व रात को दूध से दें,कीडे मर कर पेट से बाहर निकल जायेंगे।

    *भात के मांड में बायविडंग और त्रिफ़ला का चूर्ण डालकर पीने से पेट के कीडों का नाश होता है।

    * छ: माशे खुरासानी अजवायन को छ: ग्राम बासी पानी के साथ पीस कर उसमें एक तोला पुराना गुड मिलाकर पीने से कीडे खत्म हो जाते है।

    * नीम के पत्तों का रस शहद के साथ मिलाकर पीने से कीडे मर जाते है।

    * ढाक के पत्तों का रस शहद के साथ पीने से कीडे खत्म हो जाते है।

    * बायबिडंग का चूर्ण पांच माशे अथवा पांच ग्राम एक तोले अर्थात दस ग्राम शहद में मिलाकर चाटने से पेत की कीडे नष्ट हो जाते है।

    * नीबू के पत्तों का रस शहद में मिलाकर चाटने से पेट के कीडे नष्ट हो जाते है।

    * पांच ग्राम ढाक के बीज लेकर मट्ठे के साथ रात को निगल जायें,सुबह मल में मरे हुये कीडे निकल जायेंगे।
    * दही में कमीला मिलाकर पीने से सभी तरह के पेट के कीडे मर जाते है।

    * नारियल का छिलका पानी में औटाकर सुबह निराहार पीने से पेट के कीडे मर जाते है।

    * काले जीरे का चूर्ण शहद में मिलाकर चाटने से कीडे मर जाते है।

    * दो ग्राम नौसादर को देशी घी में मिलाकर खाने से कीडे मर जाते है।

    * सुबह उठकर पहले थोडा सा गुड खायें,फ़िर खुरासानी अजबायन को पानी के साथ पीस कर उस जल को पी जायें,पेट के कीडे नष्ट हो जायेंगे।

    * नीम के कडवे पत्ते और जरा सी हींग मिलाकर चबाने से तथा उसके रस को चूंसने से पेट और दांत के कीडे नष्ट हो जाते है।

    * प्याज का रस पिलाने से बालकों के पेट के कीडे खत्म हो जाते है।

    * जैतून के तेल को पिलाने और गुदा में लगाने से बच्चों के चुनचुने समाप्त हो जाते है।

    * कच्ची हल्दी को गुड में मिलाकर खिलाने से बच्चों के पेट के कीडे समाप्त हो जाते है।

    * अधिक मीठा खाने से बच्चों के मल द्वार में कीडे काटने लगते है,और बच्चा अचानक चिल्लाने लगता है,उसके मल द्वार में मिट्टी के तेल का फ़ाया लगाने के बाद चुनचुने काटना बंद कर देते है।

    * नारंगी के छिलके काटकर सुखा लें फ़िर उतनी ही मात्रा में बायबिडंग को कूट पीस कर उसमें मिलालें,आधा चम्मच चूर्ण गरम पानी से बच्चे को रोज एक बार तीन दिन तक दें,चौथे दिन एक चम्मच कैस्टर आयल दूध में डालकर पिला दें,दस्त के साथ मरे हुये कीडे निकल जायेंगे।


    * टेसू के फ़ूल लाकर उसका काढा बनाकर गुड मिलाकर पिलाने से पेट के कीडे खत्म हो जाते है। इसे सिर्फ़ तीन दिन ही पिलाना चाहिये। 


0 comments:

Post a comment