Tuesday, 23 July 2013

नेत्र रोग हो तो :सरल उपचार और मंत्र

नेत्र रोग हो तो :सरल उपचार और मंत्र 



किसीको नेत्र रोग है, आँखों की तकलीफ़ है, आँखों की रोशनी कमजोर है तो वे भगवान का.... अपने आराध्य का..... अपने सदगुरु को स्मरण करके पुष्कराक्षाय नम: जप करे और वे लोग प्राण मुद्रा का भी अभ्यास करे |

लोकोक्तियों में नेत्र-रोग निवारण

1. काली मिर्च को पीसकर,घी बूरा संग खाय
    नेत्ररोग सब दूर हों,गिद्ध-दृष्टि हो जाए

2. मिट्टी के नव-पात्र में,त्रिफला रात्रि में डाल
    रोज़ सवेरे धोय के,नेत्ररोग को टाल

3. ताम्र के एक पात्र में, घमिरा रस को निचोय
    रूई साफ भिगोय के,लीजे छांह सुखाय

4. सरसों तेल मिलाय के,आग में देहु जलाय
    ढकिए थाली फूल की,काजल लेहु बनाय

5. कालिख सरसों तेल में,घिसै उंगली डार
    ऐसे सरल उपाय सो,काजल करो तैयार

6. रतौंधी धुंधी खुजली या नेत्र लाल पड़ जाए
    बढ़े रोशनी आंख की,सारे रोग नसाय

7. आंख-कान के मध्य में चूना लेप लगाय
    आई आंख अच्छी करे और ललाई जाय

8. भुनी फिटकरी लीजिए,जल गुलाब में घोल
    आंखों की जलन मिटे,ये वैद्य के बोल

9. केशर शहद मिलाय के,नेत्रन माहि लगाय
    लाली और गरमी मिटै,रोग रतौंधी जाय

10. बरगद के दूध में घिस,कपूर लगाओ नैन
      फूली मिटे छोटी-बड़ी,और पाओ सुख चैन

11. शुद्ध शहद में लीजिए,सेंधा नमक मिलाय
      थोड़े दिन ही लगाइए,फूली देत मिटाय

Remedy for eye infections:

If anyone has weak eyesight, eye infections, pain in eyes then one should remember his/her worshiping Lord or Guru and then recite this mantra. Om Pushkarakshaya Namah and practice the pran mudra along with this.



0 comments:

Post a comment