slide

Sunday, 21 July 2013

गर्भवती माँ और बच्चे का विकास

गर्भवती माँ और बच्चे का विकास





- बच्चे का विकास नहीं होता हो तो चंद्रमा की किरणों नाभि पे पड़े तो बच्चे का विकास होता है |

-
नारियल और मिश्री चबा के खाये तो बच्चे का विकास होगा, अष्टमी को न खाये |

-
जितना दूध उतना पानी और एक–डेढ़ चम्मच घी डाल दे १५-२० ग्राम उबाल-उबाल के पानी । पानी सोंक ले और घी वाला दूध पिलाओ अपने-आप बच्चे का विकास होगा

-
अथवा सुवर्णप्राश की २–२ गोली और संजीवनी गोली २–२ गोली खाओं बच्चे का भी और अपना भी विकास होता है |



गर्भावस्था में घातक है सेलफोन


जरूरत से ज्यादा मोबाइल फोन इस्तेमाल करने वाली गर्भवती महिलाएं सावधान हो जाएं। येल स्कूल ऑफ मेडिसिन के शोधकर्ताओं का दावा है कि गर्भावस्था के दौरान जरूरत से ज्यादा सेलफोन के इस्तेमाल से महिलाओं के गर्भ में पल रहे शिशु के स्वास्थ्य को खतरा हो सकता है।

शोधकर्ताओं ने यह अध्ययन चुहियों पर किया जिसका विस्तृत विवरण नेचर नामक पत्रिका में प्रकाशित हुआ है। शोधकर्ता ह्यूग एस. टेलर ने बताया कि सेल फोन से निकली रेडियोफ्रिक्वेंसी रेडिएशन (विकिरण) का दुष्प्रभाव न सिर्फ बच्चों बल्कि बड़ों पर भी होता है।

टेलर व उनकी टीम ने गर्भवती चुहिया के पिंजड़े के बाहर साइलेंट मोड पर सेल फोन रखकर उस पर होने वाली विकिरण को परखा। इसके बाद बंद फोन रखकर चुहिया पर उसके प्रभाव का परीक्षण किया। शोधकर्ता ने बताया कि शोध के दौरान उन्होंने पाया कि विकिरण के प्रभाव से चुहिया में अटेंशन डेफिसिट हाइपरएक्टिविटी डिसऑर्डर (एडीएचडी) की बीमारी के लक्षण दिखे।

मनुष्यों पर इसका प्रभाव उनके गर्भ में पल रहे बच्चों की मानसिक स्थिति पर होने की आशंका सबसे अधिक है। अगर गर्भावस्था के दौरान महिलाएं जरूरत से ज्यादा फोन पर बातें करती हैं, तो वे अपने बच्चों के स्वास्थ्य के लिए जरा फोन से परहेज करें।


Tips for pregnant ladies to improve growth of baby in womb :-


- If there is no growth in the womb, let the rays of moon fall on the bellybutton to improve their growth.

- Chew coconut mixed with rock sugar. This will help growth of baby in womb. But abstain from taking coconut on ashtami (eight lunar day).

- Take equal quantities of milk and water and add one to one and half spoon of ghee, about 15-20 grams. Boil this to dry out the water and serve the ghee - milk, this automatically aid the growth of the baby.

- Else you may also take Suvarnaprakash 2-2 tablets or Sanjivani 2-2 tablets. This will help development of both mother and child.





0 comments:

Post a Comment