Friday, 12 July 2013

बरसाती बीमारियो से बचाव की कुछ सरल युक्तियाँ


बरसाती बीमारियो से बचाव की कुछ सरल युक्तियाँ

·        1.      जैसे अजवाइन आप 5 ग्राम सप्ताह में दो बार पानी से निगल लीजिये, यह भी शरीर को बारिश के रोगों से बचाती है।

2.      इसी तरह रोज पांच पत्तियाँ नीम की भी चबायी जा सकती हैं।

3.      साथ ही बच्चों को दो ग्राम अश्वगंधा का चूर्ण और पांच ग्राम बड़े लोगों को खिलाया जा सकता है, पानी से भी निगल सकते हैं और शहद मिला कर भी चाट सकते हैं।

4.      बेहद छोटे दूध पीते बच्चों को केवल शहद काली मिर्च के चूर्ण के साथ चटाया जा सकता है। आधा चम्मच शहद में पांच दाने काली अर्थात गोल मिर्च का चूर्ण।

5.      इन सबके बावजूद फिटकरी के पानी से नहाना सर्वाधिक फायदेमंद साबित होगा।

6.      अगर आपको मिल जाए तो गिलोय का चूर्ण 5 ग्राम रोजाना सुबह सवेरे पानी से निगल लीजिये। ये उमस के इस मौसम में रामबाण की तरह काम करती है।

7.      पानी ज्यादा से ज्यादा पीजिये, ताकि पेट में गरमी ही न रहे जो घमौरियों और फोड़े- फुंसी के रूप में शरीर से बाहर निकलती है।

8.      तला-भुना व मसालेदार खाने से परहेज करें, हल्का व कम मसालेदार खाना खाए।


9.      केवल उबला हुआ व फिल्टर्ड पानी पिएं।

10.  इस मौसम में बाजार के कटे हुए फल न खाएं और बासी जूस भी न पिएं।


11.  विटामिन युक्त चीजें खाएं, अधिक वसायुक्त भोजन से परहेज करें।

12.  डिहाइड्रेशन और हिपेटाइटिस-ए जैसी बीमारियों से बचने के लिए खाते समय सफाई का खास ध्यान रखें।


13.  गर्म खाद्य पदार्थो का ही सेवन करें 


14.  ढीले व कॉटन के कपड़े पहनें और चुस्त कपड़ों से बचें।

15.  मानसून में मूंग की दाल का सेवन हमारी पाचन क्षमता को दुरुस्त करता है।


16.  तोरी, परवल, सुरान, ग्वार की फली, टिंडा व करेला स्वास्थवर्धक होते हैं।

17.  बारिश में आम, सेब, लीची, चेरी, जैसे मौसमी फलों का सेवन लाभकारी है।


18.  मानसून में मलेरिया, जॉनडिस जैसी बीमारियो से बचने के लिए सफाई पर खास ध्यान दे। उबलें पानी और साफ सब्जियों का प्रयोग करें।

19.  ताजा बना खाना खाएं।





0 comments:

Post a comment