Wednesday, 24 July 2013

वीर्य वर्धक प्रयोग

वीर्य वर्धक प्रयोग




1) शुद्ध कोंच के बीज, विदारीकन्द, गोखरू, शतावरी, अश्वगंधाम प्रत्येक १००-१०० ग्राम, जायफल, छोटी इलायची, पिप्पली प्रत्येक २० ग्राम तथा शुद्ध बंगभस्म १२० ग्राम-इन सभीको अलग-अलग पीसकर अच्छी तरह मिला के काँच की बरनी में रख लें | सुबह ३ ग्राम मिश्रण ८-१० बूंद बड़ का दूध मिला के दूध के साथ सेवन करें |

2) शुद्ध बंगभस्म १ रत्ती (१२० मी. ग्रा. %) सुबह घी के साथ लें और ऊपर से दूध पी लें | यह प्रयोग ४०-६० दिनों तक करने व ब्रह्मचर्य का पालन करने से शुक्राणुओं की वृद्धि होगी | इससे नपुंसकता में भी लाभ होता है |

3)कौंच :कौंच के बीज और गोखरू के चूर्ण को मिश्री के साथ मिलाकर दूध के साथ पीने से शारीरिक शक्ति बढ़ती है।

4)असगंध :असगंध के चूर्ण को दूध में मिलाकर पीने से शरीर शक्तिशाली बनता है और आदमी का वीर्य पुष्ट होता है।

5)मूसली :काली मूसली के चूर्ण में मिश्री को मिलाकर खाने से शरीर की शक्ति बढ़ती है।

6)शतावर: शतावरी को पकाकर खाने या शतावरी के चूर्ण की खीर बनाकर सेवन करने से शरीर की ताकत में वृद्धि होती है।

Semen –promoting mixture:

(1) Take pure kaunch (Mucuna pruriens) seeds, Vidarikand (Ipomoea Paniculata), Gokharu (Tribulus Terrestris), Shatawari (Asparagus racemosus), Ashwagandha (Withania somnifera) 100 grams each; Jaiphal (Myristica fragrans), small cardamom, Pippali (Piper longum) 20 grams each and pure Vanga-bhasma (oxide of tin compounds) 120 grams. Grind them separately and then mix them well. Store the mixture in a glass jar. Take 3 grams of the mixture in the morning mixed with 8-10 drops if the milky juice of banyan milk with milk.


(2)Take pure Vang-bhasma 120 mg in the morning with ghee. Then drink milk. Doing this for 40 to 60 days while observing Brahamcharya will increase sperm count of the semen. It helps in impotency as well. 


0 comments:

Post a comment