Thursday, 8 August 2013

90 दिनों तक कमर कस लें... दुबलापन नहीं रहेगा

90 दिनों तक कमर कस लें... दुबलापन नहीं रहेगा




कोई तन से दुखी, कोई मन से दुखी तो कोई दुखी बिन धन के......इस संसार में पूरी तरह से सुखी व्यक्ति को खोजना बड़ा मुश्किल काम है। किसी के पास भरपूर धन है तो शरीर रोगों का अड्डा बना हुआ है। पूरी तरह से स्वस्थ और परफेक्ट शरीर वालों के पास धन की इतनी कमी है कि उनके चारों और दीनता-दरिद्रता ही टपकती नजर आती है।

मनुष्य की खाशियत ही यह है कि वह किसी भी चुनौती के सामने घुटने नहीं टेकता।  दुबलेपन को जहां कुछ लोग आनुवांशिक यानी खानदानी समस्या मानते हें तो वहीं साहसी और आशावादी लोगों ने इसका भी उपाय खोज निकाला है।

आयुर्वेद, प्राकृतिक चिकित्सा और योग के सम्मिलित प्रयासों से दुबलेपन की समस्या का 100-फीसदी कारगर उपाय खोज निकाला गया है। ये बेहद सरल उपाय ये हैं-

-
अच्युताय अध्वगंधा चूर्ण और शतावर का चूर्ण बराबर मात्रा में मिलाकर 1 से 2 चम्मच प्रतिदिन शुद्ध दूध के साथ सोने से कुछ देर पहले लें।

-भोजन के बाद एक केला नियम के खाए

-
दूध में उबालकर प्रतिदिन 5 छुवारे यानी खारक का सेवन करें।

-
एक गिलास पानी में दो चम्मच ‘’अच्युताय संजीवनी शहद ‘’शहद मिलाकर प्रतिदिन सेवन करें।
-
दो चम्मच ‘’अच्युताय च्यवनप्राश केशर’’ प्रतिदिन सेवन करें।

-
भोजन में सलाद, नाश्ते में अंकुरित अन्न, तथा फलों का प्रयोग प्रारंभ करें।

-
यथा संभव नशीले पदार्थों चाय, कॉफी, गुटका-तम्बाकू, सिगरेट और शराब आदि से दूर रहें।

 
ऊपर बताए इन प्रयोगों को यदि कोई लगातार दृढ़ संकल्पित होकर करे तो निश्चित रूप से उसे दुबलेपन और अन्य शारीरिक कमजोरियों से 100 फीसदी छुटकारा मिलता है।

(अच्युताय के आयुर्वेदिक उत्पाद सभी संत श्री आसारामजी आश्रमों व श्री योग वेदान्त समिति के सेवा केन्द्रों पर उपलब्ध है।)



0 comments:

Post a comment